in

सेना के पाकिस्तान में घुसने के बाद,CRPF जवानों को मिली ऐतिहासिक कामयाबी,30 साल में नहीं हुआ था ऐसा

नई दिल्ली : कल हमारे देश के सेना के जवानों ने सीमा पार करके पाकिस्तान को अंदर घुस के मारा और तीन चौकियां उड़ायीं, साथ ही जैश का आतंकी कमांडर 4 फूटिया नूर मुहम्मद भी मार गिराया गया. ऐसे ही कल देर रात हमारे CRPF के जवानों को देश के अंदर छुपे हुए दुश्मन पर बड़ी जीत हासिल हुई जिससे दुश्मन के खेमे में बुरी तरह खलबली सी मच गयी है.

crpf_1485343670_618x347.jpeg (618×347)

भारतीय सेना के बाद CRPF जवानों को मिली ऐतिहासिक कामयाबी
अभी मिल रही ताज़ा खबर के मुताबिक छत्तीसगढ़ में CRPF के ज़बरदस्त ऑपरेशन और एनकाउंटर की आशंका होता देख सबसे बड़े कुख्यात नक्सली नरसिंह रेड्डी ने आत्मसमर्पण कर दिया है. उसने बस्तर के बजाए वारंगल में तेलंगाना पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है. ये कोई छोटा मोटा नक्सली नहीं था, इस पर एक करोड़ रूपये का इनाम था. इसीलिए इसे सीआरपीएफ जवानों की बड़ी कामयाबी बताई जा रही है.नक्‍सलवाद के तीस साल के इतिहास में ये पहला मौका है, जब सेन्ट्रल स्तर के किसी नक्सली नेता ने पुलिस के सामने हथियार डालने का फैसला लिया है.

सूचनाओं और खूफिया तंत्र की कड़ी चौकसी के चलते उसकी लोकेशन लगातार सुरक्षाबलों को मिल रही थी. हाल ही में वो छत्तीसगढ़ के नारायणपुर, भोपालपट्नम और सुकमा में अलग-अलग एनकाउंटर में जान गंवाते बचा था. लिहाजा जान के खतरे को भांपते हुए उसने छत्तीसगढ़ पुलिस के बजाए तेलंगाना पुलिस की शरण में जाना मुनासिब समझा. उसके आत्मसमर्पण को एंटी नक्सल ऑपरेशन के रिकार्ड में इस साल की सबसे बड़ी कामयाबी के रूप में देखा जा रहा है.

नक्सली गिरोह में मची खलबली
इस नक्सली के साथ-साथ उसकी पत्नी ने भी आत्मसमर्पण कर दिया है. आत्मसमर्पण के बाद नरसिंह रेड्डी की जान जोखिम में है. टॉप मोस्ट नक्सली नेताओं और उनके सहयोगियों के बारे में जानकारी होने के चलते नरसिंह रेड्डी के आत्मसमर्पण से नक्सली बुरी तरह बौखलाए हुए हैं. नक्सलियों में खलबली मची हुई है क्यूंकि नरसिंह रेड्डी अब कई बड़े खुलासे और अन्य नक्सलियों की जानकारी दे रहा है.

एक करोड़ इनामी वाले कुख्यात नक्सली नरसिंह रेड्डी के आत्मसमर्पण से नक्सली नेताओं और उनके दल को तगड़ा झटका लगा है. नक्सली नरसिंह रेड्डी छत्तीसगढ़ में खासतौर पर बस्तर इलाके में कई बड़े नक्सली वारदातों को अंजाम दे चुका है. फिलहाल वो पड़ोसी राज्य उड़ीसा में सक्रिय था.नरसिंह ने छत्तीसगढ़ के अलावा उड़ीसा, आंध्रप्रदेश और महाराष्ट्र में कई बड़ी वारदातों को अंजाम दिया है.बारूदी सुरंगे बिछाने और लैंडमाइन विस्फोट की घटनाओं को अंजाम देने में उसे महारत हासिल थी.

आतंक फ़ैलाने के साथ-साथ नरसिंह अन्य राज्यों में जाकर नक्सली दलों को इसके लिए प्रशिक्षित भी किया करता था. दरअसल नरसिह रेड्डी की फोटो नहीं होने के चलते पुलिस की आंखों में वो अक्सर धूल झोकते रहता था. कभी दाढ़ी मूछें रखकर तो कभी क्लीन शेव करने की वजह से उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी. अपनी कद काठी और नक्सली दल में ऊंची पैठ के चलते नरसिंह पुलिस की आंखों की किरकिरी बना हुआ था.

सुकमा में शहीद जवानों के गुस्से की आग आज भी जल रही है
दरअसल काफी वक़्त पहले छत्तीसगढ़ के ही सुकमा में सीआरपीएफ के जवानों पर नक्सलियों ने कायराना हमला किया था, जिसमें 25 जवान शहीद हो गए थे. जिसके बाद से गृह मंत्रालय से खुले आर्डर दिए गए, स्पेशल टीम और ऑपरेशन चलाये जा रहे हैं. नक्सलियों के खात्मे के लिए पूरी तरह कमर कस के जवान तैयार हैं.

दरअसल ये नक्सली एक अजीब ही सोच से ग्रसित होते हैं, ये किसी तरह का विकास नहीं चाहते हैं, न सड़क बनवाना चाहते हैं, न ही पुल, न रेलवे लाइन. जहाँ ऐसा काम होता है ये उसे तबाह कर देते हैं. साथ ही इनके पास कई खतरनाक हथियार भी रहते हैं, जिससे ये अपने आतंक को अंजाम देते हैं. लेकिन अब CRPF जवानों ने इन पर नकेल कसने की पूरी तैयारी कर ली है.

कमजोर दिल वाले हैं तो कृपया इन तस्वीरों को न देखें

एलओसी पार करके भारतीय जवानों के हमले का पूरा सच आया सामने, पाक फ़ौज में मची चीख-पुकार